12 मार्च, 2014

फागुन आगया




हाइकू :
-(१)
 खेलती फाग
रंग रसिया साथ
भला लगता |
(२)
भीगी चूनर
पूरी तरबतर
लिपटी जाए |
(३)
रंग गुलाल
मलता मुंह पर
मन बसिया |

(४)

रंग अवीर 
लिए प्यार की साध  
सजनी सजी |
(५)

कन्हा के संग
गोपियाँ खेलें होली
आज होली है |

आशा